रिजर्व बैंक द्वारा संपार्श्विक मुक्त कृषि ऋण सीमा का संवर्धन

प्रश्न-निम्नलिखित कथनों में से कौन/से कथन सत्य है/हैं?
(1) भारतीय रिजर्व बैंक ने जमानत मुक्त कृषि ऋण की सीमा 1 लाख रु. से बढ़ाकर 1.6 लाख रु. कर दी है।
(2) उज्जीवन लघु वित्तीय बैंक संपार्श्विक मुक्त ऋण प्रदान करने वाला इस श्रेणी का पहला बैंक है।
(3) 1 लाख रु. की सीमा वर्ष 2010 में नियत की गई थी।
(a) केवल 1
(b) केवल 2
(c) केवल 3
(d) 1, 2, एवं 3
उत्तर-(d)
संबंधित तथ्य

  • 7 फरवरी, 2019 को भारतीय रिजर्व बैंक ने संपार्श्विक मुक्त कृषि ऋण की सीमा को 1 लाख रुपये से बढ़ाकर 1.6 लाख कर दिया।
  • इससे औपचारिक ऋण प्रणाली में छोटे एवं सीमांत किसानों के कवरेज में वृद्धि होगी।
  • उल्लेखनीय है कि 1 लाख की यह सीमा वर्ष 2010 में तय की गई थी।
  • केंद्रीय बैंक द्वारा कृषि ऋण की समीक्षा करने एवं एक व्यवहारिक नीति समाधान पर पहुंचने के लिए एक आंतरिक कार्य समूह स्थापित करने का निर्णय लिया गया है।
  • ध्यातव्य है कि ‘उज्जीवन लघु वित्तीय बैंक’ द्वारा लघु एवं सीमांत किसानों के लिए ‘किसान सुविधा ऋण’ शुरू किया गया है।
  • इसके अंतर्गत यह बैंक कृषि एवं संबद्ध गतिविधियों के लिए संपार्श्विक (जमानत) मुक्त ऋण प्रदान करता है।

लेखक-राजन शुक्ला

संबंधित लिंक भी देखें…

https://rbidocs.rbi.org.in/rdocs/notification/PDFs/NOTI1184643A836ED6B428E9DAE6452A84F3B3C.PDF

https://timesofindia.indiatimes.com/business/india-business/ujjivan-small-finance-bank-launches-kisansuvidha-loan-product-for-small-and-marginal-farmers/articleshow/67758584.cms

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.