ईएसआई अंशदान की दर में कटौती

प्रश्न-हाल ही में सरकार ने ईएसआई अंशदान की दर को घटाकर कर दिया है-
(a) 4 प्रतिशत
(b) 5 प्रतिशत
(c) 7 प्रतिशत
(d) 8 प्रतिशत
उत्तर-(a)
संबंधित तथ्य

  • 13 जून, 2019 को केंद्रीय श्रम मंत्रालय ने संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों के हित में एक महत्वपूर्ण फैसला लिया।
  • मंत्रालय ने राज्य कर्मचारी बीमा (ईएसआई) योजना में अंशदान की दर को 6.5 प्रतिशत से घटाकर 4 प्रतिशत (नियोक्ता के अंशदान की दर 4.75 प्रतिशत से घटाकर 3.25 प्रतिशत कर्मचारी के अंशदान की दर को 1.75 प्रतिशत से घटाकर 0.75 प्रतिशत) करने की घोषणा किया।
  • घटी हुई दरें आगामी एक जुलाई से प्रभावी होंगी।
  • इस दरों में इस संशोधन से 3.6 करोड़ कर्मचारी और 12.85 लाख नियोक्ता लाभान्वित होंगे।
  • ध्यातव्य है कि सरकार के इस कदम से कंपनियों को वार्षिक लगभग पांच हजार करोड़ रुपये की बचत होगी।
  • इससे और अधिक कामगारों को ईएसआई योजना में लाने में सहायता मिलेगी।
  • साथ ही ज्यादा से ज्यादा श्रमिक बल को औपचारिक क्षेत्र के अंतर्गत लाना सुलभ हो जाएगा।
  • कर्मचारी राज्य बीमा योजना
  • यह योजना बीमित व्यक्तियों को चिकित्सा, नकदी, मातृत्व, निशक्तता और आश्रित होने के लाभ प्रदान करता है।
  • योजना, कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) द्वारा प्रशासित है।
  • योजना के अंतर्गत उपलब्ध कराए जाने वाले लाभ नियोक्ताओं और कर्मचारियों द्वारा किए गए अंशदान के माध्यम से वित्त पोषित होते हैं।
  • भारतीय बीमा उद्योग
  • भारत के बीमा उद्योग में 63 बीमा कंपनियां शामिल हैं, जिनमें से 24 जीवन बीमा व्यवसाय में हैं और 39 गैर-जीवन बीमाकर्ता हैं।
  • भारत में लिखा गया सकल प्रीमियम (Gross Premiums Written in India) वित्त वर्ष 2018 में लगभग 5.53 ट्रिलियन रुपये तक पहुंच गया था।
  • जिसमें जीवन बीमा से 4.58 ट्रिलियन रुपये और गैर-जीवन बीमा से 1.51 ट्रिलियन रुपये के लगभग योगदान था।

संबंधित लिंक भी देखें…
http://pib.nic.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1574530

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.