RBI की योजनाः दृष्टि बाधितों हेतु मोबाइल ऐप

प्रश्न-RBI द्वारा दृष्टिबाधितों को नोटों की पहचान कराने वाले मोबाइल ऐप को बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है-
(a) डैफोडिल सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड
(b) फर्स्ट सोर्स लिमिटेड
(c) इन्फोसिस टेक्नोलॉजीज
(d) इनमें से कोई नहीं
उत्तर-(a)
संबंधित तथ्य
  • सितंबर, 2019में RBI द्वारा दृष्टिबाधितों हेतु मोबाइल ऐप विकसित करने के लिए वेंडर का चयन किया गया।
  • यह दायित्व ‘डैफोडिल सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड’ को सौंपा गई है।
  • विशेषता
  • प्रस्तावित एप्लिकेशन बैंक नोटों (100, 200, 500 और 2000 रुपये के नोट) की पहचान में मदद करेगा।
  • यह एक गैर-इंटरनेट मोबाइल ऐप होगा। अर्थात् इसके लिए इंटरनेट की जरूरत नहीं होगी।
  • नोटों को पहचानने में दृष्टिबाधितों की मदद के लिए ‘इंटैग्लियों प्रिंटिंग’ आधारित पहचान चिन्ह दिए गए हैं।
  • ‘ऐप’ महात्मा गांधी शृंखला और महात्मा गांधी (नयी) शृंखला के नोटों की पहचान करने में सक्षम होगा।
  • इसके लिए व्यक्ति को नोट को फोन के कैमरे के सामने रख कर उसकी तस्वीर खींचनी होगी।
  • यदि नोट की तस्वीर सही से ली गई होगी तो ऐप ‘ऑडियो नोटिफिकेशन’ के जरिए दृष्टिबाधितों को नोट के मूल्य के बारे में बता देगा।

संबंधित लिंक भी देखें…

https://www.businesstoday.in/current/economy-politics/rbi-selects-vendor-for-developing-mobile-app-to-visually-impaired-people/story/378037.html

https://economictimes.indiatimes.com/news/economy/policy/rbi-selects-vendor-for-developing-mobile-app-for-visually-impaired/articleshow/71033520.cms

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.