31 उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण

PSLV-C43 successfully launches HysIS and 30 customer satellites

प्रश्न-29 नवंबर, 2018 को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र शार से कुल 31 उपग्रहों को प्रक्षेपण सफलतापूर्वक संपन्न किया। इस मिशन के तहत प्रक्षेपित मुख्य उपग्रह कौन है?
(a) सेंटौरी
(b) फैक्सैट
(c) हायसिस
(d) फ्लॉक
उत्तर-(c)
संबंधित तथ्य

  • 29 नवंबर, 2018 को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र शार के प्रथम लांच पैड से भारत के ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (PSLV) की 45वीं उड़ान (मिशन PSLV-C43/हायसिस) सफलतापूर्वक संपन्न हुई।
  • इस मिशनके तहत प्रक्षेपित मुख्य उपग्रह (Primary Satellite) भारत का ‘हाइपर-स्पेक्ट्रल इमेजिंग सैटेलाइट’ (HysIS: Hyper-Spectral Imaging Satellite) है।
  • रॉकेट ने अपने उड़ान भरने के लगभग 17 मिनट एवं 19 सेकंड पश्चात ‘हायसिस उपग्रह’, को 645 किमी. की ऊंचाई पर स्थित ‘सूर्य-तुल्यकालिक ध्रुवीय कक्ष’ (Sun-synchronous Polar Orbit)  में स्थापित कर दिया।





  • हायसिस उपग्रह के अतिरिक्त PSLV-C43 ने इस मिशन के अंतर्गत 8 देशों के 30 विदेशी उपग्रहों को भी उनकी निर्धारित कक्षा में स्थापित किया।
  • सभी 30 सहयात्री उपग्रह 504 किमी० की ऊंचाई वाली ध्रुवीय सूर्य-तुल्यकालिक कक्षा (SSO) में स्थापित किए गए।
  • दो अलग-अलग कक्षाओं में उपग्रहों को स्थापित करने के लिए PSLV के चौथे चरण के इंजनों को दो बार पुनर्प्रारंभ (Restart) करना पड़ा।
  • इस मिशन की कुल अवधि 1 घंटा एवं 49 मिनट रही।
  • उल्लेखनीय है कि 380 किग्रा. वजनी हायसिस एक भू-अवलोकन उपग्रह (Earth Observestion Satellite) है।
  • हायसिस उपग्रह का मुख्य उद्देश्य विद्युत चुंबकीय स्पेक्ट्रम के दृश्य (Visible) निकट अवरक्त (Near Infrared) तथा शार्टवेव अवरक्त (Shortwave Infrared) क्षेत्रों में पृथ्वी की सतह का अध्ययन करना है।




  • हायसिस उपग्रह की मिशन अवधि 5 वर्ष है।
  • जिन 30 विदेशी उपग्रहों का प्रक्षेपण इस मिशन के अंतर्गत किया गया उनमें एक माइक्रो एवं 29 नैनो उपग्रह शामिल हैं।
  • ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, कोलंबिया, फिनलैंड, मलेशिया, नीदरलैंड्स तथा स्पेन के एक-एक तथा अमेरिका के 23 उपग्रह सघः मिशन के तहत प्रक्षेपित किए गए।




  • यह पहला अवसर था, जब पीएसएलवी के माध्यम से ऑस्ट्रेलिया, कोलंबिया, मलेशिया तथा स्पेन के किसी उपग्रह को प्रक्षेपित किया गया।
  • सघः मिशन के तहत प्रक्षेपित किए गए सभी 30 सहयात्री उपग्रहों का का कुल वजन 261.5 किग्राः है।
  • ज्ञातव्य है कि सघः मिशन में PSLV के सबसे हल्के ‘कोर अलोन’ (Core Alone) संस्करण का प्रयोग किया गया।

संबंधित लिंक…
https://www.isro.gov.in/update/29-nov-2018/pslv-c43-successfully-launches-hysis-and-30-customer-satellites
https://www.isro.gov.in/launcher/pslv-c43-hysis-mission
https://indianexpress.com/article/technology/science/isro-pslv-c43-mission-hysis-satellite-launch-5470213/
https://www.livehindustan.com/national/story-isro-launches-hysis-and-30-other-satelites-on-pslv-c43-from-satish-dhawan-space-centre-in-sriharikota-2288913.html

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.