नौसेना के लिए इलेक्ट्रिक प्रोपल्शन पर बैठक

प्रश्न – निम्न कथनों पर विचार कीजिए-
(i) अप्रैल‚ 2024 में भारत और ब्रिटेन के मध्य नौसेना के लिए इलेक्ट्रिक प्रोपल्शन पर बैठक की गई।
(ii) भारत-ब्रिटेन द्वारा घरेलू युद्धपोतों को बिजली देने के लिए भारत में विद्युत प्रणोदन प्रणाली विकसित करने हेतु बैठक आयोजित की गई।
(iii) भारतीय नौसेना अपने भविष्य के युद्धपोतों में विद्युत प्रणोदन तकनीक को शामिल करने पर विचार कर रही है।
निम्नलिखित में से कौन-सा/से कथन सत्य है/हैं?
(a) (i), (ii) एवं (iii)
(b) (i) एवं (ii)
(c) (i) एवं (iii)
(d) (ii) एवं (iii)
उत्तर – (a)
संबंधित तथ्य –

  • भारत तथा ब्रिटेन ने एक संयुक्त इलेक्ट्रॉनिक प्रणोदन कार्य समूह की स्थापना की है जिसकी प्रथम बैठक फरवरी‚ 2023 को ब्रिटेन में संपन्न हुई।
  • ध्यातव्य है कि वर्तमान में भारतीय नौसैनिक युद्धपोतों में विद्युत प्रणोदन प्रणाली (Electric Propulsion System) नहीं है।
  • ब्रिटेन (UK) के क्वीन एलिजाबेथ क्लास विमानवाहक पोत पूर्णत: विद्युत प्रणोदन जहाज है।
  • समुद्री विद्युत प्रणोदन प्रौद्योगिकी एक ऐसी प्रणाली है‚ जो पारंपरिक यांत्रिक प्रणोदन प्रणालियों की जगह जहाजों को बिजली देने के लिए विद्युत मोटरों का उपयोग करती है।
  • भारतीय युद्धपोत वर्तमान में डीजल इंजन‚ गैस टर्बाइन या भाप टर्बाइन द्वारा संचालित होते हैं। विद्युत प्रणोदन क्षमता 6,000 टन से अधिक के विस्थापन वाले बड़े युद्धपोतों को शक्ति प्रदान करने के लिए है।

लेखक – नवनीत सिंह

संबंधित लिंक भी देखें…

https://indianexpress.com/article/india/india-uk-closer-to-pact-on-electric-propulsion-system-for-warships-9296010/