सैमसंग की मास्टरकार्ड और RBL बैंक के साथ साझेदारी

Samsung India ties up with Mastercard, RBL Bank for mobile payments
प्रश्न-भारत में वर्ष 2018-19 के दौरान कार्ड भुगतान के अंतर्गत क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के माध्यम से किए गए लेन-देन की संख्या क्रमशः और थी।
(a) 1.8 बिलियन, 4.4 बिलियन
(b) 1.5 बिलियन, 4.0 बिलियन
(c) 1 बिलियन, 3.5 बिलियन
(d) 2.5 बिलियन, 6.5 बिलियन
उत्तर-(a)
संबंधित तथ्य
  • 28 अगस्त, 2019 को मास्टरकार्ड, RBI बैंक और सैमसंग इंडिया ने RBL बैंक के क्रेडिट कार्ड धारकों के लिए सैमसंग पे लांच करने की घोषणा की।
  • साझेदारी के तहत BRL  बैंक के वे ग्राहक जिनके पास मास्टरकार्ड कंपनी का क्रेडिट कार्ड है, ‘सैमसंग पे’ इनेब्लड फोन के द्वारा संपर्क रहित मोबाइल भुगतान (Contact less Mobile Payments) कर सकेंगे।
  • प्रयोग विधि
  • भुगतान का यह तरीका भारत और विदेश दोनों जगहों पर (जहां ‘प्वाइंट ऑफ सेल’ मशीन में कोई कार्ड स्वैप या टैप किया जाता हो) आजमाया जा सकेगा।
  • अंतर बस यह होगा कि कार्ड की जरूरत नहीं होगी।
  • आरबीएल बैंक के ग्राहक ‘सैमसंग पे’ पर अपने मास्टरकार्ड क्रेडिट कार्ड को आसानी से जोड़ पाएंगे, जो उपभोक्ताओं को उनके फिंगरप्रिंट आईरिस स्कैन या पिन के आधार पर प्रमाणित करता है।
  • सफल प्रमाणीकरण के आधार पर, उपभोक्ता संगत टर्मिनल पर सिर्फ अपने उपकरणों या डिवाइसों (मोबाइल) को टैप करके अपनी खरीदारी कर पाएंगे।
  • भारत में इलेक्ट्रॉनिक भुगतान
  • भुगतान के इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों में से वर्ष 2018-19 में तत्काल सकल निपटान (RTGS) प्रणाली के अंतर्गत 1,357  ट्रिलियन रुपये मूल्य के 137 मिलियन लेन-देन किए गए।
  • यह विगत वर्ष के 1167 ट्रिलियन रुपये मूल्य के 124 मिलियन लेन-देन से अधिक रहे।
  • वर्ष 2018-19 के दौरान, कार्ड भुगतान के अंतर्गत क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के माध्यम से किए गए लेन-देन की संख्या क्रमशः 1.8 बिलियन और 4.4 बिलियन थी।

संबंधित लिंक भी देखें…

https://www.thehindubusinessline.com/money-and-banking/samsung-india-ties-up-with-mastercard-rbl-bank-for-mobile-payments/article29279295.ece

https://newsroom.mastercard.com/asia-pacific/press-releases/mastercard-rbl-bank-and-samsung-india-to-empower-indian-consumers-with-mobile-payments-through-samsung-pay-2/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.