मध्य प्रदेश में सेफ सिटी कार्यक्रम

प्रश्न-12 सितंबर, 2019 को संपन्न मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में वर्ष 2019-20 से वर्ष 2021-22 तक की अवधि में प्रदेश के 6 शहरों में सेफ सिटी कार्यक्रम संचालित करने हेतु मंजूरी प्रदान की गई। इस 6 शहरों में कौन शामिल नहीं है?
(a) भोपाल
(b) छतरपुर
(c) जबलपुर
(d) सतना
उत्तर-(d)
संबंधित तथ्य
  • 12 सितंबर, 2019 को संपन्न मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में वर्ष 2019-20 से वर्ष 2021-22 तक की अवधि में प्रदेश के 6 शहरों में सेफ सिटी कार्यक्रम संचालित करने हेतु मंजूरी प्रदान की गई।
  • इन 6 शहरों में भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, छिंदवाड़ा छतरपुर और जबलपुर शामिल हैं।
  • इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य बालिकाओं एवं महिलाओं को शहर में सुरक्षित वातावरण उपलब्ध कराना है।
  • इस कार्यक्रम हेतु 5 करोड़ रुपये की राशि व्यय करने के लिए भी मंजूरी प्रदान की गई।
  • मंत्रिमंडल ने पायलट आधार पर राज्य के 6 आदिवासी विकास खंडों में राज्य प्रारंभिक ग्रामीण उद्यमिता कार्यक्रम शुरू करने को मंजूरी प्रदान की।
  • 6 आदिवासी विकास खंडों में अलीराजपुर जिले का उदयगढ़ और जोबट, धारा जिले का डही तथा कुक्षी और झाबुआ जिले का झाबुआ तथा राणापुर विकास खंड शामिल हैं।
  • इस कार्यक्रम का उद्देश्य पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग अंतर्गत राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन अंतर्गत गठित स्व-सहायता समूहों का लघु-स्तरीय लघु उद्यमिता विकास करना है।
  • इस कार्यक्रम अंतर्गत स्व-सहायता समूहों को 25 हजार प्रति समूह के मानक से उद्यमिता विकास हेतु राशि प्रदान की जाएगी।
  • छिंदवाड़ा में कृषि महाविद्यालय की स्थापना हेतु भी मंजूरी प्रदान की गई।
  • बेहतर सुविधाओं को उपलब्ध कराने के दृष्टिगत मध्य प्रदेश कर्मचारी राज्य बीमा सोसायटी के गठन करने का निर्णय लिया गया।

लेखक-विजय प्रताप सिंह

संबंधित लिंक भी देखें…

https://www.mpinfo.org/Story/StoryDetails.aspx?StoryID=190912S1&CatId=103

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.