भारत और ईरान के बीच 11वीं संयुक्त राजनयिक समिति की बैठक

11th Joint Consular Committee Meeting between Republic of India and the Islamic Republic of Iran
प्रश्न-14 मई, 2019 को भारत और ईरान के बीच 11वीं संयुक्त राजनयिक बैठक नई दिल्ली में आयोजित हुई। इस बैठक में भारतीय पक्ष का नेतृत्व किसने किया?
(a) विजय गोखले
(b) संजीव अरोड़ा
(c) अमित नारंग
(d) टी.एस. तिरुमूर्ति
उत्तर-(c)
संबंधित तथ्य
  • 14 मई, 2019 को भारत और ईरान के बीच 11वीं संयुक्त राजनयिक (Consular) समिति की बैठक नई दिल्ली में आयोजित हुई।
  • भारतीय पक्ष का नेतृत्व अमित नारंग, विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (सीपीवी) और ईरान के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व ईरान के विदेश मंत्रालय के राजनयिक मामलों के महानिदेशक अली असगर मोहम्मदी ने किया।
  • इस बैठक में दोनों पक्षों ने राजनयिक और वीजा संबंधी मुद्दों पर वर्तमान सहयोग की स्थिति की समीक्षा पर विशेष रूप से विचार-विमर्श किया।
  • इसमें दोनों देशों के लिए ई-वीजा की अवधि बढ़ाना भी शामिल है।
  • बैठक के दौरान दोनों पक्षों ने आपसी हितों के मुद्दों पर विचार-विमर्श किया, जिसमें नागरिक और वाणिज्यिक मामलों पर पारस्परिक कानूनी सहायता पर शीघ्र समझौते को अंतिम रूप देने पर विशेष बल दिया गया।
  • वर्तमान में ईरान भारतीय यात्रियों को वीजा-ऑन-अराइवल (Visa-on-arrival) प्रदान करता है, जिसे पेपर वीजा के रूप में जाना जाता है।
  • दोनों देशों के बीच मैत्रीपूर्ण आदान-प्रदान को बढ़ावा देने के तरीकों पर भी विचार-विमर्श किया गया।
  • ज्ञातव्य है कि इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेश मंत्री डॉ. मोहम्मद जावद जरीफ 13-14 मई, 2019 तक भारत की यात्रा पर रहे।

लेखक-विजय प्रताप सिंह

संबंधित लिंक भी देखें…

https://www.mea.gov.in/press-releases.htm?dtl/31293/11th+India+Iran+Joint+Consular+Committee+Meeting+JCCMs


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.