उजाला और स्ट्रीट लाइटिंग राष्ट्रीय कार्यक्रम के 5 वर्ष

प्रश्न-5 जनवरी, 2020 को उजाला (सभी के लिए किफायती द्वारा उन्नत ज्योति) और एलईडी स्ट्रीट लाइटिंग राष्ट्रीय कार्यक्रम (एसएलएनपी) योजनाओं के 5 वर्ष पूरे हुए। इस संबंध में विकल्प में कौन-सा तथ्य सही नहीं है?
(a) उजाला योजना के तहत पूरे देश में 36.13 करोड़ एलईडी बल्ब किफायती मूल्य में वितरित किए गए हैं।
(b) इससे प्रतिवर्ष 46.92 बिलियन किलोवाट ऊर्जा की बचत हुई है।
(c) एलईडी स्ट्रीट लाइटिंग राष्ट्रीय कार्यक्रम (एसएलएनपी) के अंतर्गत अभी तक देश में 1.03 करोड़ स्ट्रीट लाइटों को लगाया गया है।
(d) एसएलएनपी द्वारा मार्च, 2020 तक भारत में 1.85 करोड़ पारंपरिक स्ट्रीट लाइटों के स्थान पर एलईडी लाइट लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
उत्तर-(d)
संबंधित तथ्य
  • 5 जनवरी, 2020 को उजाला (सभी के लिए किफायती एलईडी द्वारा उन्नत ज्योति) और एलईडी स्ट्रीट लाइटिंग राष्ट्रीय कार्यक्रम (एसएलएनपी) योजनाओं के 5 वर्ष पूरे हुए।
  • एलईडी स्ट्रीट लाइटिंग राष्ट्रीय कार्यक्रम (एसएलएनपी) के अंतर्गत अभी तक देश में 1.03 करोड़ स्ट्रीट लाइटों को लगाया गया है, जिसके फलस्वरूप 6.97 बिलियन किलोवॉट प्रतिवर्ष ऊर्जा बचत हुई और इससे पीक डिमांड में 1161 मेगावॉट की कमी आई है।
  • ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन में भी प्रतिवर्ष 4.8 मिलियन टन कार्बनडाईऑक्साइड की कमी आई है।
  • उजाला योजना अंतर्गत पूरे देश में 36.13 करोड़ एलईडी बल्ब किफायती दामों पर वितरित किए गए है।
  • इससे प्रतिवर्ष 46.92 बिलियन किलोवॉट ऊर्जा की बचत हुई है और पीक डिमांड में 9394 मेगावॉट की कमी तथा ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन में प्रतिवर्ष 38 बिलियन टन कार्बनडाइऑक्साइड की कमी आई है।
  • भारत में एलईडी परितंत्र के निर्माण हेतु इन कार्यक्रमों को साउथ एशिया प्रोक्योरमेंट इनोवेशन अवॉर्ड 2017 सहित कई वैश्विक स्तर के पुरसकार प्राप्त हुए हैं।
  • आईटी के नवाचार उपयोग हेतु एसएलएनपी को सीआईओ 100 पुरस्कार, 2019 प्राप्त हुआ है।
  • एलईडी क्षेत्र में बदलाव आधारित योगदान हेतु उजाला और एसएलएनपी को ग्लोबल सॉलिड स्टेट लाइटिंग (SSL) पुरस्कार भी मिला है।
  • उजाला योजना के तहत वितरित किए जाने वाले एलईडी बल्बों की कीमतों में कमी आई है।
  • अनुमान है कि वर्ष 2020 तक भारतीय बाजार में एलईडी बल्ब की लाइटिंग मार्केट में हिस्सेदारी 60 प्रतिशत हो जाएगी।
  • वर्ष 2018 में सरकार द्वारा शुरू की गए ग्राम स्वराज अभियान (जीएसए) के तहत 21058 गांवों को उजाला योजना के अंतर्गत किफायती दर पर एलईडी बल्ब वितरित किए गए हैं।
  • विगत 5 वर्षों के दौरान 3,00,000 किमी. सड़कों पर एलईडी बल्ब लगाए गए हैं।
  • एसएलएनपी द्वारा मार्च, 2020 तक भारत में 1.34 करोड़ पारंपरिक स्ट्रीटट लाइटों के स्थान पर एलईडी लाइट लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • 5 जनवरी, 2015 को शुरू किया गया उजाला विश्व की सबसे बड़ी घरेलू लाइटिंग परियोजना और एलएलएनपी विश्व का सबसे बड़ा स्ट्रीट लाइट प्रतिस्थापन कार्यक्रम है।
  • यह दोनों योजनाएं ऊर्जा दक्षता सेवा लिमिटेड (EESL) द्वारा लागू की गई हैं।

लेखक-विजय प्रताप सिंह

संबंधित लिंक भी देखें…

http://www.newsonair.com/News?title=Govt%26%2339%3Bs-UJALA%2C-SLNP-complete-five-years-of-illuminating-nation&id=377220

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.