इंफोसिस पुरस्कार-2015

Infosys Prize 2015

प्रश्न-इंफोसिस पुरस्कार-2015 का पुरस्कार वितरण कौन करेगा?
(a) नरेंद्र मोदी
(b) प्रणब मुखर्जी
(c) अरूण जेटली
(d) एन. आर. नारायण मूर्ति
उत्तर-(b)
संबंधित तथ्य

  • 16 नवंबर, 2015 को इंफोसिस साइंस फाउंडेशन द्वारा प्रदान किये जाने वाले वार्षिक पुरस्कार के विजेताओं की घोषणा की गयी।
  • ये पुरस्कार अभियांत्रिकी कंप्यूटर विज्ञान, मानविकी, जीवन विज्ञान, गणितीय विज्ञान, भौतिक विज्ञान,और समाजिक विज्ञान श्रेणी में प्रदान किए गये।
  • इंफोसिस पुरस्कार 2015 के विजेताओं का चयन दुनिया भर के सम्मानित वैज्ञानिकों और प्रोफेसरों से बने निर्णायक मंडल द्वारा किया गया।
  • निर्णायक मंडल में विभिन्न श्रेणियों के प्रमुखों का विवरण इस प्रकार है:- प्रो. प्रदीप खोसला (कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय)-इंजीनियरिंग और कंप्यूटर विज्ञान, प्रो. अमर्त्य सेन (हार्वर्ड विश्वविद्यालय)-मानविकी, डॉ इंदर वर्मा (सॉल्क इंस्टीट्यूट ऑफ बायोलॉजिकल साइंसेज)-जीवन विज्ञान, प्रो. श्रीनिवास एस.आर.वर्धन (न्यूयार्क विश्वविद्यालय)-गणितीय विज्ञान, प्रो. श्री निवास कुलकर्णी (कैलीफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी)-भौतिक विज्ञान, प्रो. कौशिक बसु (विश्व बैंक)-सामाजिक विज्ञान।
  • इस पुरस्कार के अंर्तगत प्रत्येक श्रेणी के विजेता को 65 लाख रुपये की नकद राशि, 22 कैरेट सोने से बना पदक और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है।
  • प्रो. उमेश वाघमारे को इंजीनियरिंग एवं कंप्यूटर विज्ञान श्रेणी में पुरस्कार विजेता चुना गया है। वे जवाहरलाल नेहरू सेंटर फॉर एडवांस साइंटिफिक रिसर्च बेंगलुरू में सैद्धांतिक विज्ञान इकाई में प्रोफेसर हैं।
  • इन्हें यह पुरस्कार टोपोलोजिक इंसुलेटर, फेरोइलेक्ट्रिक्स, मल्टीफेरोइक्स तथा ग्राफीन जैसी सामग्री के विशिष्ट गुणों की सैद्धांतिक सिद्धांतों और मॉडलिंग के अभिनव प्रयोग के द्वारा उनकी व्यावहारिक जांच के लिए प्रदान किया जाएगा।
  • प्रो. जोनर्डन गनेरी को मानविकी श्रेणी में पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। ये न्यूयार्क विश्वविद्यालय में दर्शन के वैश्विक नेटवर्क प्रोफेसर और किंग्स कालेज लंदन के दर्शनशास्त्र विभाग के आवर्तक (Recurrent) अतिथि प्रोफेसर हैं।
  • इन्हे यह पुरस्कार भातीय दर्शन के विश्लेषणात्मक व्याख्या और भारतीय एवं यूनानी दर्शन के साझे आधार पर प्रकाश डालने तथा भारतीय एवं यूनानी दर्शन के विरोधाभासों पर मौलिक कार्य के लिए प्रदान किया जाएगा।
  • डॉ अमित शर्मा को जीवन विज्ञान श्रेणी में सम्मानित किया जाएगा। ये इंटरनेशनल सेंटर फॉर जेनेटिक इंजीनियरिंग एंड बायोटेक्नोलॉजी नई दिल्ली के स्ट्रक्चरल और कम्यूटेशनल बायोलाजी ग्रुप के वैज्ञानिक समूह का नेतृत्व करते हैं।
  • इन्हें यह पुरस्कार घातक मलेरिया परजीवी के द्वारा रोगजनन में सम्मिलित प्रमुख प्रोटीनों की परमाणु स्तर पर, आणविक संरचना के गूढ़ रहस्य के प्रति योगदान के लिये प्रदान किया जाएगा।
  • प्रो. जी. रवीन्द्र कुमार को भौतिक विज्ञान की श्रेणी में पुरस्कार के लिए चुना गया है। ये टाटा इंस्टीट्यूट आफ फंडामेंटल रिसर्च के न्यूक्लियर और एटामिक फिजिक्स विभाग में प्रोफेसर हैं।
  • इन्हें यह पुरस्कार उच्च तीव्रता के लेजर पदार्थ के परस्पर संबंध पर अग्रणी योगदान के लिए प्रदान किया जाएगा।
  • इस खोज के परिणाम का नक्षत्रीय और खगोल भौतिकी परिदृश्यों के परीक्षणों में महत्वपूर्ण योगदान है।
  • प्रो. महान एमजे को गणितीय विज्ञान की श्रेणी में पुरस्कार प्रदान किया जायेगा। ये टाटा मूलभूत अनुसंधान संस्थान मुंबई में गणित के प्रोफेसर हैं।
  • इन्हें यह पुरस्कार ज्यामितीय समूह के सिद्धांत, न्यून आयामी सांस्थिति (Topology) और जटिल ज्यामिति में योगदान के लिए प्रदान किया जाएगा।
  • डॉ श्रीनाथ राघवन को सामाजिक विज्ञान श्रेणी में पुरस्कार दिया जाएगा। ये सेंटर फॉर पॉलिसी रिसर्च, नई दिल्ली में वरिष्ठ अध्येता हैं।
  • इन्होंने वैश्विक संदर्भ में भारतीय सेना के इतिहास, अंतर्राष्ट्रीय राजनीति एवं सामरिक विश्लेषण का कल्पनाशील दृष्टिकोण से अनुसंधान किया। जिसने भारतीय संदर्भ में अंतर्राष्ट्रीय राजनीति का संश्लेषण किया।
  • इंफोसिस साइंस फाउंडेशन की स्थापना फरवरी, 2009 में की गयी थी।
  • इस फाउंडेशन को इंफोसिस के निदेशकों और बोर्ड के पूर्व सदस्यों द्वारा 130 करोड़ रुपये का वित्तकोष प्रदान किया गया है।
  • प्रथम बार वर्ष 2008 में गणित का इंफोसिस पुरस्कार प्रदान किया गया था।
  • इंफोसिस साइंस फाडन्डेशन की स्थापना के पश्चात इसे चार और श्रेणियों में प्रदान किया जाने लगा।
  • वर्ष 2015 के पुरस्कार 13 फरवरी 2016 को आयोजित समारोह में दिल्ली में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा प्रदान किया जायेगा।

संबंधित लिंक भी देखें…
http://www.infosys-science-foundation.com/
http://www.infosys.com/newsroom/press-releases/Pages/ISF-announces-infosys-prize-2015.aspx

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.