सामयिक विषय: संक्षिप्तियां

High level city bus service

उच्चस्तरीय नगरीय बस सेवा

प्रश्न-आगामी वित्तीय वर्ष से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आम नागरिकों को उच्चस्तरीय नगरीय बस सेवा उपलब्ध कराने हेतु लो फ्लोर एवं मिनी बस सेवा (पी.पी.पी. मॉडल पर आधारित)  प्रदेश के कितने शहरों में शुरू की जाएगी?
(a)  5
(b) 6
(c)  7
(d) 12
उत्तर-(c)
संबंधित तथ्य

  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आगामी वित्तीय वर्ष से आम नागरिकों को उच्चस्तरीय नगरीय बस सेवा उपलबध कराने हेतु पी.पी.पी. मॉडल पर आधारित लो फ्लोर एवं मिनी बस सेवा प्रदेश के 7 शहरों में शुरू की जाएगी।
  • इन सात शहरों में लखनऊ, इलाहाबाद, मथुरा, आगरा, कानपुर, वाराणसी और मेरठ शामिल हैं।
  • नगरीय बस सेवाओं में निःशुल्क वाई-फाई सुविधा उपलब्ध कराए जाने हेतु मुख्य सचिव राजीव कुमार ने निर्देशित किया।
  • आम नागरिकों को देर रात्रि शहर में यातायात की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु बसों का संचालन प्रातः 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक, रात्रि में भी एयरपोर्ट, बस स्टेशन एवं रेलवे स्टेशनों सहित मुख्य स्थानों पर रात्रि सेवा कम से कम एक घंटे के अंतराल में उपलब्ध कराना अनिवार्य होगा।

संबंधित लिंक
http://upnews360.in/newsdetail/97255/hi

Country’s 'first' mobile food testing lab

‘फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स’ मोबाइल प्रयोगशाला

प्रश्न-हाल ही में किस राज्य में देश की पहली ‘फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स’ मोबाइल प्रयोगशाला का अनावरण किया गया?
(a)  छत्तीसगढ़
(b) गोवा
(c)  झारखंड
(d) असम
उत्तर-(b)
संबंधित तथ्य

  • 10 दिसंबर, 2017 को गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर परर्िकर ने गोवा में देश की पहली ‘फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स’ मोबाइल प्रयोगशाला योजना शुरू की गई है।
  • यह केंद्र द्वारा पूर्णतः वित्तपोषित है।
  • केंद्र सरकार 5 वर्ष तक इस वाहन के रख-रखाव एवं लागत को भी वहन करेगा।
  • इससे खाद्य पदार्थों और विरूपताओं की मौके पर जांच के साथ ही लोगों को पोषण और सुरक्षित भोजन के महत्व के विषय में जागरूक (शिक्षित) करने में मदद मिलेगी।
  • अत्याधुनिक उपकरणों से युक्त इस मोबाइल कार्यशाला से 15 मिनट के भीतर खाद्य एवं तरल पदार्थों की जांच की जा सकती है।

संबंधित लिंक
http://www.fssai.gov.in/home/food-testing/Food-Safety-on-Wheels.html
http://www.business-standard.com/article/pti-stories/goa-cm-to-unveil-country-s-first-mobile-food-testing-lab-117120800521_1.html
http://www.republicworld.com/s/15143/what-if-you-could-test-food-and-water-quality-within-15-minutes

Meghalaya to get its first LPG bottling facility

मेघालय की पहली एलपीजी बॉटलिंग सुविधा

प्रश्न-हाल ही में केंद्र सरकार ने किस पूर्वोत्तर राज्य के लिए 75 करोड़ रुपये स्वीकृत किए ताकि वहां पहली एलपीजी बॉटलिंग सुविधा (संयंत्र) की स्थापना की जा सके?
(a)  अरुणाचल प्रदेश
(b) मेघालय
(c)  असम
(d) नगालैंड
उत्तर-(b)
संबंधित तथ्य

  • 9 दिसंबर, 2017 को पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय तथा मेघालय सरकार के बीच शिलांग में एक समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किया गया।
  • इसके अनुसार, केंद्र सरकार ने मेघालय के लिए 75 करोड़ रुपये स्वीकृत किए।
  • जिससे कि मेघालय में पहले एलपीजी बॉटलिंग (कूपीभरण) संयंत्र की स्थापना की जा सके।
  • यह कदम मेघालय में विशेषकर राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में साफ ईंधन (Clean Fuel) की पहुंच बढ़ाने में मदद करेगा।
  • बॉटलिंग प्लांट की क्षमता 13,000 मीट्रिक टन वार्षिक होगी।
  • पूर्वोत्तर क्षेत्रों में मेघालय राज्य एलपीजी की पहुंच से सर्वाधिक अछूता रहा है।
  • इसी के मद्देनजर केंद्र ने राज्य में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई) को पूरे जोरों से लागू करने का फैसला किया है।
  • राज्य में केवल 27 प्रतिशत परिवार एलपीजी कनेक्टिविटी से जुड़े हैं, जो राष्ट्रीय औसत से बहुत नीचे है।
  • राज्य में केवल 49 एलपीजी वितरक हैं।
  • नए बॉटलिंग प्लांट का निर्माण शिलांग में किया जाएगा।

संबंधित लिंक
http://indiatoday.intoday.in/story/meghalaya-to-get-its-first-lpg-bottling-facility/1/1106847.html

Skip to toolbar