सामयिक विषय: रक्षा/विज्ञान संक्षिप्तिकी

Successful Test Firing of Guided Pinaka

मल्टी बैरल रॉकेट लांच सिस्टम गाइडेड पिनाका का सफल प्रक्षेपण

प्रश्न-12 जनवरी, 2017 को मल्टी बैरल रॉकेट लांच सिस्टम गाइडेड पिनाका का कहां से सफल प्रक्षेपण किया गया?
(a) श्रीहरिकोटा
(b) चांदीपुर
(c) जैसलमेर
(d) विशाखापट्टनम
उत्तर-(b)
संबंधित तथ्य

  • 12 जनवरी, 2017 को मल्टी बैरल रॉकेट लांच सिस्टम पिनाका रॉकेट के परिवर्तित रूप ‘गाइडेड पिनाका’ का ओडिशा के बालासोर स्थित चांदीपुर एकीकृत परीक्षण रेंज (ITR) के कॉम्प्लेक्स-3 से सफल प्रक्षेपण किया गया।
  • पिनाका मार्क-1 से विकसित किया गया पिनाका राकेट मार्क-2 दिशा सूचक, निर्देशिका और नियंत्रण उपकरण से सुसज्जित है।
  • इस परिवर्तन से पिनाका की मारक क्षमता और सटीकता बढ़ी है।
  • प्रक्षेपण के दौरान यह मिशन के सभी उद्देश्यों पर खरा उतरा।
  • चांदीपुर के राडार, इलेक्ट्रो ऑप्टिकल और टेलीमैट्री प्रणालियों से पूरे उड़ान पथ पर यान की निगरानी की गई थी।
  • गाइडेड पिनाका शस्त्र अनुसंधान व विकास संस्थान (ARDE), पुणे, आरसीआई, हैदराबाद और डीआरडीएल, हैदराबाद द्वारा संयुक्त रूप से विकसित की गई है।


संबंधित लिंक
http://pib.nic.in/newsite/PrintRelease.aspx?relid=157308

CSL completes construction of 20 FPV series for Indian Coast Guard

आईसीजीएस आयुष

प्रश्न-हाल ही में कोचीन शिपयार्ड लि. द्वारा इंडियन कोस्ट गॉर्ड (Indian Coast Guard) को दिया गया 20वां एफपीवी (Fast Patrol Vessel) का परिचालन किस कोस्ट गार्ड स्टेशन से किया जायेगा?
(a) आईसीजीएस करैकल
(b) आईसीजीएस काकीनाडा
(c) आईसीजीएस निजामपत्तनम
(d) आईसीजीएस कृष्णापत्तनम
उत्तर-(d)
संबंधित तथ्य

  • 30 दिसंबर, 2016 को कोचीन शिपयार्ड लि. द्वारा निर्मित (Fast Patrol Vessel) आईसी जीएस आयुष (Indian Coastal Guard Ship Ayush) को भारतीय तटरक्षक बल को सौंप दिया गया।
  • 20 अक्टूबर, 2010 को कोचीन शिपयार्ड लि. को भारतीय तटरक्षक बल के लिए 20 तीव्र गश्ती पोत (Fast Patrol Vessle) के निर्माण का कार्य दिया गया था।
  • 25 सितंबर 2013 को कोचीन शिपयार्ड लि. द्वारा पहला पोत, भारतीय तटरक्षक बल को प्रदान किया गया। था। पिछले आठ पोतों को समय पूर्व ही, तटरक्षक बल को, प्रदान किया गया। आईसीजीएस आयुष को निर्धारित समय से तीन माह पूर्व ही सौंप दिया गया।
  • इस पोत का परिचालन आईसीजीएस कृष्णपत्तनम (Indian Coastal Guard Station Krishnapattanam) से किया जायेगा।
  • 19 अगस्त 1978 को भारतीय तटरक्षक बल की स्थापना कोस्ट गॉर्ड एक्ट, 1978 के तहत की गई थी। यह रक्षा मंत्रालय के अधीन कार्य करता है।
  • यह बल भारत के समुद्री हितों की रक्षा करने के साथ ही, समुद्री कानूनों के अनुपालन में अग्रणी भूमिका निभाता है।
  • भारतीय तटरक्षक बल का मुख्यालय नई दिल्ली में है और इसके पांच क्षेत्रीय कार्यालय हैं-
    (i) पश्चिमी क्षेत्र-मुंबई
    (ii) पूर्वी क्षेत्र-चेन्नई
    (iii) उत्तरी-पूर्वी क्षेत्र-कोलकाता
    (iv) अंदमान-निकोबार क्षेत्र-पोर्ट ब्लेयर
    (v) उत्तरी-पश्चिमी क्षेत्र-गांधीनगर
  • भारतीय तटरक्षक बल के चार्टर के अनुसार इसके निम्न कार्य हैं-
    1. अनन्य आर्थिक क्षेत्र (Exclusive Economic Zone) की सुरक्षा
    2. तटीय एवं अपतटीय (Costal and Offshore) सुरक्षा
    3. समुद्री पर्यावरण संरक्षण
    4. वैज्ञानिक सहायता
    5. देशरक्षा

संबंधित लिंक
http://www.thehindubusinessline.com/economy/logistics/csl-completes-construction-of-20-fpv-series-for-indian-coast-guard/article9451540.ece
http://cochinshipyard.com/press/PRESS%20RELEASE%20-DELIVERY%20OF%20SHIP%20520.pdf
http://www.newsexperts.in/2017/01/csl-completes-construction-of-of-20-fpv-series-vessel/
http://www.indiancoastguard.gov.in/content/442_1_HistoryICG.aspx

Skip to toolbar